NATO क्या है? नाटो के सदस्य देश कौन कौन से है? | What is NATO? | NATO full form | NATO Members 2021-22 |

नाटो क्या है?- What is NATO?

What is NATO in hindi
what is NATO


NATO (उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन) को तत्कालीन सोवियत संघ (The Soviet Union) के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने के लिए अमेरिका , कनाडा और पश्चिमी यूरोपीय देशो ने मिलकर नाटो की स्थापना 4 अप्रेल सन 1949 की थी. वर्तमान समय में में यह कुल 30 देश/सदस्यों का समूह है. 

अगर मैं दुसरे सब्दो में कहू तो NATO Organization की स्थापना दुसरे विश्व युद्ध के बाद कुछ देशो ने मिलकर  की थी यह संगठन का काम  एक दुसरे को सैन्य सहायता प्रदान करना है.  

अगर कोई देश किसी दुसरे देश पर आक्रमण करता है तो ऐसी स्थिति में में NATO organization उस देश को सैन्य सहायता करता है और उस देश को बचने में लग जाता है. 

नाटो का मुख्यालय (NATO Headquarter)

NATO की स्थापना 4 अप्रेल 1949 को की गई थी, नाटो का मुख्यालय बेल्जियम की राजधानी ब्रुसेल्स में है.


NATO का फुल फॉर्म (NATO full form)

NATO full form in English : "North Atlantic Treaty Organization"
NATO full form in hindi : नाटो का पूरा नाम "उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन" है.


नाटो के महासचिव कौन है?- Who is the Secretary General of NATO?

वर्तमान में नाटो के महासचिव "Jens Stoltenberg"  है.


नाटो की स्थापना (Establishment) क्यों हुई ?

  • उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन की स्थापना का समसे बड़ा करना विश्व यूद्ध है, जब दुसरा विश्व युद्ध खत्म हुआ, ऐसी स्थिति दुनिया में दुबारा न हो इसलिए सभी देसों ने मुल्कर United Nations (UN) की स्थापना की,  इसे हम "संयुक्त राष्ट्र" भी कहते है, इसका काम दुनिया शान्ति का माहोल बनाये रखना.
  • इसके बाद सभी देशो ने इस अंग्थान को मजबूत बनाने के लिए इसमें आपने अपने देश की सेना को भी जोड़ा और एक गठन बनाया इसे NATO "उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन" के नाम से जाना जाता है.
  • इस सगठन का काम यदि युद्ध की स्थिति होती है तो यह एक दुसरे देश को सैन्य बल की सहायता प्रदान करती है.
  • नाटो की स्थापना का दूसरा सबसे बड़ा कान यह था की जब दूसरा विश्व यूद्ध हुआ तब यूरोपीय देशो को भरी नुकसान उठाना पड़ा था और वह काफी कमजोर हो गए थे,  इसलिए यूरोपीय देशो ने मिलकर इस मजबूत संगठन का गठन किये .



नाटो का सबसे प्रमुख अंग कौन सा है?

नाटो के कुल 4 अंग निम्न है-
  1. परिषद् 
  2. उप परिषद् 
  3. प्रतिरक्षा समिति 
  4. सैनिक समिति.
1. परिषद् :  नाटो का सबसे प्रमुख अंग यही होता है, क्योकि इसमें सभी देशो के प्रधान्पंत्री शामिल होते है और सभी मुख्य फैसले समय समय पर सभी प्रधानमंत्रियो की बैठक में यही से लिए जाते है. इसकी बैठक साल में एक बार होती है.

2. उप परिषद् :  यह परिषद् संगठन के हित वाले विषयो पर विचार करती है और किसी भी विवाद को लेकर कूटनीति का गठन करती है.

3. प्रतिरक्षा समिति : उप परीशां द्वारा बनाये गए कूटनीति पर प्रति रक्षा समिति धवारा विचार किया किया जाता हैएवं उसमे सुधार करने की सलाह देता है. इसमें नाटो के सदस्य देशो के प्रतिरक्षामंत्री शामिल होते है.

4. सैनिक समिति : यह समिति एक प्रकार से सलाहकार का कार्य करती है और इसमें नाटो के सभी देशो के सेनाध्यक्ष शामिल होते है. 

NATO में कुल कितने देश शामिल है?

नाटो संगठन में कुल 30 देश शामिल है-
  1. बेल्जियम, 
  2. कनाडा,
  3. डेनमार्क, 
  4. फ़्रांस, 
  5. नर्वे, 
  6. पुर्तगाल, 
  7. यूनाइटेड 
  8. किंगडम, 
  9. यूनाइटेड स्टेट,
  10. ग्रीस,
  11. तुर्की, 
  12. जर्मनी, 
  13. स्पेन,
  14. चेक गणतंत्र ,
  15. हंगरी,
  16. स्लोवाकिया और स्लोवेनिया,
  17. पोलेंड,
  18. बल्गेरिय,
  19. इस्टोनिया,
  20. आइसलैंड,
  21. इटली,
  22. लक्समबॉर्ग,
  23. नीदरलैंड,
  24. लातविया,
  25. इथुवानिया,
  26. रोमानिया,
  27. अलानिया,
  28. क्रो एशिया  
  29. मोटेनेग्रो,
  30. उत्तरी मैसेडोनिया.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ