आईटीआई (ITI)क्या है? कैसे करे ITI Course? ITI Full form?

ITI क्या है? iti कोर्स कब कर सकते हैं? इस का full form ,और भी बहुत सारी जानकारियां जो आज हम आपको बताने वाले हैं इस article में आइए जानते हैं iti क्या है?

    ITI Course क्या है? ("What is ITI course in hindi") : 

    ITI यह एक प्रकार का institute है जो 10th base पर किया जाता है जिससे बहुत से student आगे की पढ़ाई से ज्यादा iti करना ज्यादा पसंद करते हैं ऐसा भी इसलिए करते हैं शायद क्योंकि iti एक job specific course है जो student को mathur बना देता है और iti  complete होने के बाद आप prvt company में job के लिए तैयार हो जाते हैं ।

    ITI एक ऐसा course है जिसे करने के बाद आप आसानी से job के लिए apply कर सकते हैं और खासकर govt job  में iti का certificate मांगा जाता है iti में engineering and Non engineering  दोनों की पढ़ाई होती है pvt.  और govt  दोनों संस्थाएं iti चलाते हैं, पर govt की डिमांड ज्यादा होती है। ITI में theory से ज्यादा practical पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है.


    इन्हें भी पड़े :

    ITI का full form :

    ITI का full form "industrial traning institute "है, जिसका हिंदी अर्थ "औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान" है ।


    ITI course का उद्देश् :

    ITI का उद्देश्य छात्रों को technology आगे  बडाया जा सके। इसका साधारण शब्दों में अर्थ है कि, हर क्षेत्र में युवाओं को तकनीकी में दक्ष बनाया जाए, ऐसे छात्र-छात्राएं जो उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं कर सकते और कम उम्र में जिन्हें कमाने की जरूरत होती है, ऐसे छात्र-छात्रा आसानी से ये course करके अपने लिए नौकरी प्राप्त कर सकते हैं इसलिए भी यह iti course का एक मुख्य उद्देश्य है।


    ITI course के प्रकार :

    ITI मुख्यतः दो प्रकार की है...
    1. Engeeniaring trades
    2. None engeeniaring trades 

    Engeeniaring trades :

    जो trades  पूरी तरह से technological होते हैं, मतलब कि यह trade तकनीकी होते हैं, यह trade में maths, science etc, subjects पर study होती है. ऐसे subject engineering trades कहलाते हैं ।

    None engeeniaring trades :

    None engeeniaring trades science और technology से कम संबंधित होते हैं trades की बात करें तो इनकी संख्या 100 से भी अधिक होती है, जिसमें से आपकी अपनी पसंद के अनुसार trade चुन सकते हैं ।


    ITI के लिए ability : 

    • ITI  के लिए student का 10th class पास होना अनिवार्य है ।
    • ITI के लिए लगभग 14 से 40 वर्ष के भीतर होना अनिवार्य है ।

    जानकारी के लिए हम बता दे कि : हर साल जून-जुलाई अगस्त के महीने में iti के form निकलते हैं अगर आपका iti करना है तो आप apply कर सकते है,और जब एडमिट कार्ड आ जाए तो entrance एग्जाम दे. इसमें अगर आप उत्तीर्ण हो जाते हैं तो iti  में addmission कर सकते हैं.  iti का कोर्स 6 month से 2 year तक हो सकता है ।


    ITI course की फीस :

    ITI की फीस की बात करें तो govt college में अगर आपका addmission होता है, तो इसके लिए आपको कोई फीस नहीं लगती है, लेकिन अगर आप का private college में addmission होता है, तो वहां की फीस आपके college के अनुसार होती है, जो आपके trades पर निर्भर करती है।
     

    ITI diploma के बाद नौकरी : (ITI Jobs)

    ITI के बाद students का यही सवाल होता है कि हम कहां पर नौकरी कर सकते हैं, तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि iti के बाद आपके सामने नौकरी के कई और विकल्प खुल जाते हैं, जैसे कि iti के बाद किसी भी technical और None technical sector में आप काम कर सकते हैं, या आप की trade पर निर्भर करता है. iti  diploma के बाद आप private companies में apply कर सकते हैं, और साथ ही जिस govt job जिसमें iti certificate मांगता है. ऐसे govt vacancy में भी आप apply कर सकते हैं।


    ITI करने के बाद सैलरी कितनी होती है?

    ITI करने के बाद जब आप job पर जाते हैं, तो उसकी salary आपके अनुभव पर निर्भर करती है, वहीं यह salary govt job , private job  में अलग-अलग होती है.

    भारत में लगभग 12,000 iti center है जिसमें 2,300 govt और 9700 pvt. sector है. यह आंकड़ा पिछले कुछ वर्षों में बढ़कर 20,000 हो चुका है. 2020 में iti traning में 45% students की बढ़ोतरी हुई है।

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां